समाजवादी पार्टी की मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किसानों का समर्थन करते हुए एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा है कि भाजपा सरकार पोषण करने वालों का शोषण करना बंद करे.

अखिलेश यादव ने कहा कि सड़कों पर ठिठुरते आंदोलनकारियों की जायज मांगों को लेकर भाजपा सरकार हृदयहीन रवैया अपनाकर किसानों की घोर उपेक्षा कर रही है. इस पर जो वैश्विक प्रतिक्रिया आ रही है उससे दुनियाभर में भारत की लोकतांत्रिक छवि को गहरी ठेस पहुंची है.

भाजपा सरकार पोषण करने वालों का शोषण करना बंद करे. इस कैप्शन के साथ अखिलेश यादव ने सर्द मौसम की कोहरे भरी सुबह की एक तस्वीर भी साझा की है.

उन्होंने कहा कि भाजपा राज में जैसा अन्याय देश के अन्नदाता किसान के साथ आजाद भारत में कभी नहीं हुआ. लगातार एक पखवाड़े से खुले आसमान के नीचे ठण्ड में कांपते किसान सरकार से अपनी व्यथाकथा बताने को सड़क पर हैं लेकिन सरकार है कि उसके कान में जूं ही नहीं रेंग रही है.

अखिलेश यादव ने कहा कि अपने मन की बात देश को जबरन सुनाने वाले किसान की कोई बात सुनने को तैयार नहीं है. किसान आंदोलन भारत के इस लोकतांत्रिक मूल्य की पुनः स्थापना का भी आंदोलन है कि सरकार के सभी फैसलों में आम जनता की भागीदारी होनी चाहिए, सरकार की मनमानी नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here