समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भारतीय जनता पार्टी की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि आज संविधान की उद्देशिका में उल्लिखित समाजवाद, पंथनिरपेक्षता और लोकतंत्र के लिए खतरा बना हुआ है.

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा अपने राजनीतिक स्वार्थ साधन के लिए संवैधानिक संस्थाओं और सामाजिक मर्यादाओं को भी कमजोर कर रही है. देश को बचाना है तो भाजपा को सत्ता से बेदखल करना होगा. चुनावों की निष्पक्षता बनाए रखने में जनता की भूमिका भी महत्वपूर्ण होनी है.

उन्होंने कहा कि भाजपा से सावधान रहना है क्योंकि वह समाज में नफरत और परस्पर दूरी पैदा करती हैं. झूठे प्रचार के जरिए लोगों को गुमराह करती है. उन्होंने कहा समाज किसी का बंधुआ नहीं रह सकता है. सामाजिक न्याय की शक्तियों के रास्ते में रोड़ा अटकाने वालों को मुंह की खानी पड़ेगी.

pic credit: social media

अखिलेश यादव आज पार्टी मुख्यालय में बुद्धिजीवियों की एक संगोष्ठी को सम्बोधित कर रहे थे. सर्वप्रथम उन्होंने बौद्धिक समाज का आभार व्यक्त किया और आशा जताई कि उनसे सार्थक विचार विमर्श बहुत उपयोगी साबित होगा.

उन्होंने कहा कि भाजपा और उनके द्वारा प्रायोजित छोटे-छोटे संगठनों का उपयोग समाजवादी पार्टी को रोकने की रणनीति के तहत किया जा रहा है. यह साजिश किसानों, गरीबों, नौजवानों के खिलाफ है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here