मैडागास्कर का एवेन्यू ऑफ़ बओबाब स्वर्ग से कम नहीं है. विशाल बओबाब के पेड़ों को बस देखते ही बनता है. ये अलग हैं, ये विशालकाय हैं. इन्हें ट्री ऑफ़ लाइफ यानी जीवन का पेड़ भी कहते हैं. ये पेड़ मानव सभ्यता से भी पुराने हैं और तब से चले आ रहे हैं, जब महाद्वीप एक-दूसरे से अलग भी नहीं हुए थे.

बओबाब अफ्रीका के 30 से ज्यादा देशों में पाए जाते हैं. तंजानिया में इन्हें बाओबाओ कहते हैं. इनके बड़े से तने के ऊपर बेहद घनी शाखाएं ऐसी होती हैं जो जड़ों सी नजर आती हैं. इसलिए इन्हें अपसाइड डाउन पेड़ भी कहते हैं.

30 मीटर ऊंचे और 50 मीटर चौड़े इन पेड़ों में से सबसे पुराना पेड़ 6000 साल का रहा है. इन पेड़ों की विशालता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इनमें 1189 गैलन पानी स्टोर हो सकता है. बारिश न होने पर स्थानीय लोग इनका इस्तेमाल पानी के लिए करते हैं.

इन पेड़ों पर लगने वाले फलों को मंकी ब्रेड भी कहते हैं. फलों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पायी जाती है. ये पेड़ गर्म और सूखे वातावरण में रहते हैं और बारिश के मौसम में तने में पानी सोखते हैं. गर्मियां आने पर इसी पानी से फल उगते हैं. इसकी छाल से कपड़े, रस्से बनते हैं.

इनके बीज से कॉस्मेटिक और औषधीय सप्लीमेंट बनाए जाते हैं, जो तीन साल तक चल सकते हैं. इनकी पत्तियों में लौह भरपूर मात्रा में पायी जाती है.

पिछले दस साल में इन पेड़ों के लिए परिस्थितियां काफी ख़राब हुई हैं. 1100 से 2500 साल की उम्र के करीब 13 में से 9 पेड़ मर गए थे. वैज्ञानिकों का कहना है कि बढ़ते तापमान के कारण या तो पेड़ मरते हैं या आग, हवा सूखे और बीमारी की वजह से भी मर जाते हैं. बाओबाब नाम अरबी शब्द बहीबब से आता है, जिसका मतलब है बहुत सारे बीज.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here