Image credit- ANI

कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों और सरकार के बीच कल पहले दौर की बातचीत दिल्ली के विज्ञान भवन में हुई. इस बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला, अब अगले दौर की बातचीत गुरूवार तीन दिसंबर को होगी. तीन दिसंबर के बाद किसान आगे की रणनीति तय करेंगे.

कल विज्ञान भवन में किसानों और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से बातचीत के दौरान जब कृषि मंत्री की ओर से किसान नेताओं से चाय पीने का आग्रह किया गया तो किसानों ने इसके जवाब में उन्हें चाय पकौड़े जेलबी खाने का ऑफर देते हुए धरनास्थल पर आमंत्रित किया.

जम्हूरी किसान सभा के कुलवंत सिंह संधू ने कहा कि तोमर साहब के चाय के ऑफर पर हमने उन्हें धरनास्थल पर आने का न्यौता दिया. हमने कहा कि धरना स्थल पर आईये हम आपको चाय-पकौड़े और जलेबी खिलाएंगे. किसानों ने ये भी कहा कि धरनास्थल पर आईये वहीं पर बातचीत हो जाएगी.

बता दें कि कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान दिल्ली की सीमा पर डटे हुए हैं. वो सरकार से ये कानून वापस लेने या इसमें उचित बदलाव की मांग कर रहे हैं. किसान आंदोलन की वजह से दिल्ली आने जाने वाले अधिकांश रास्ते बंद हो गए हैं. किसान सड़क पर ही रात बिता रहे हैं. वहीं पर लंगर भी चल रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here