वेनेजुएला के कैरिबियन तट पर झोपड़ी में रहने वाले एक मछुआरे की किस्मत ही बदल गयी. सुबह की किरणें उसके लिए एक नयी उम्मीद लेकर आई. मछुआरे योलमैन लारेस ने समुद्र किनारे पर कुछ चमकते हुए देखा. जब उसने रेट में हाथ डालकर चमकने वाली चीज को बाहर निकाला तो वह वर्जिन मैरी की छवि वाला स्वर्ण पदक था.

यह बात मछुआरों के बीच तेजी के साथ फ़ैल गयी और सभी सोने के लिए वहां इकठ्ठा हो गए. गुआका गांव के ज्यादातर मछुआरे मछली पकड़ने और उसे पैक करने के यंत्रों के साथ तट पर रेट में सोना पाने की आस में खुदाई करने लगे.

2000 की आबादी वाले इस गांव के अधिकांश निवासी इस उन्मादी खजाने की खोज में शामिल हो गए. मछली पकड़ने वाली नावों के सहारे वह चरों ओर खुदाई करने लगे. यहां तक कि समुद्र तट पर अपने कुछ वर्ग फुट रेट की रक्षा करने के लिए वहीं सो रहे थे. उन्हें लग रहा था कि उनके रेट के हिस्से से कोई और न सोना निकाल ले.

कई ग्रामीणों ने दावा किया कि उन्हें कम से कम एक कीमती वस्तु मिली है, जिसमें आमतौर पर सोने की अंगूठी शामिल है. वहां के लोगों के मुताबिक कुछ लोगों ने अपने पाए आभूषणों को 1500 डॉलर यानि करीब 1 लाख 10 हजार रूपये में बेच दिया.

जबकि सबसे पहले सोना पाने वाले 25 साल के लारेस ने कहा कि सोना देखकर मैं हिलने लगा था, मैं ख़ुशी से रोया. यह पहली बार था जब मेरे साथ कुछ खास हुआ था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here