मेहनत और लगन हो तो क्या कुछ संभव नहीं है. दसवीं पास एक युवा ने कुछ ऐसा ही कर दिखाया. बंजर जमीन पर वह लेमन ग्रास उगाकर लाखों रूपये की आय अर्जित कर रहा है. पहले चाय और कॉफी की खेती की लेकिन सफलता न मिलने पर लेमन ग्रास की खेती करने की योजना बनाई.

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला के लग बलियाना गांव के ओम प्रकाश दसवीं पास हैं. 2017-2018 में 400 कनाल भूमि पर लेमन ग्रास लगाकर इसी माह उससे 5 क्विंटल तेल निकालकर नौ लाख रूपये की आमदनी अर्जित की है.

क्या है लेमन ग्रास?

लेमन ग्रास एक आम घास की तरह दिखने वाली है, लेकिन इसमें कई औषधीय गुण हैं. इससे निकलने वाले तेल की बाजार में कॉस्मेटिक उद्योग तथा आयुर्वेदिक उद्योग में जबरदस्त मांग रहती है. इसकी खासियत ये है कि एक बार खेत में लगाने पर पांच साल तक लगातार कटाई की जा सकती है.

इसकी साल में तीन बार कटाई की जाती है. एक क्विंटल लेमन ग्रास से एवरेज चार से पांच लीटर तेल निकलता है. कॉस्मेटिक उद्योग में साबुन शैम्पू, क्रीम, डिटर्जेंट में खुशबू के लिए यह इस्तेमाल होता है. आइसक्रीम और लेमन टी में भी लेमन ग्रास तेल का ही इस्तेमाल किया जाता है.

इसका तेल सर्दी, खांसी, जुकाम, पेट दर्द तथा कई प्रकार की अन्य बीमारियों को दूर करने के लिए भी रामबाण साबित होता है. बड़े-बड़े होटलों में भी खुशबू के लिए इसके तेल का इस्तेमाल होता है. लेमन ग्रास की खेती के लिए हिमाचल प्रदेश के निचले क्षेत्र की जलवायु सबसे उपयुक्त मानी जाती है. इसकी खेती बंजर व ख़राब पड़ी भूमि पर भी की जा सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here