मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुलनाथ अपने गृह नगर छिंदवाड़ा में इन दिनों हैं.  सोमवार को कमलनाथ ने यहां सौंसर विधानसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं भी आराम करना चाहता हूं. इसके बाद उन्होंने जनता से पूछा.

कमलनाथ ने कहा कि मेरे पास सबकुछ है, लेकिन युवा और किसानों की स्थिति को देखने के बाद क्या मुझे आराम करना चाहिए? उनके इस सवाल पर जनसमूह से नहीं की आवाज आई.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे मध्य प्रदेश में छिंदवाड़ा जिला और यहां का सौंसर विधानसभा क्षेत्र कांग्रेस का अभेद्य गढ़ रहा है. यहां की जनता और कार्यकर्ता का कांग्रेस के प्रति समर्पण हमेशा दूसरी जगहों के लिए उदहारण बना है. इसलिए मैं हमेशा दावे से कहता हूं कि मेरे जिले की जनता मेरी ताकत है. मुझे आप सभी के आशीर्वाद से सबकुछ मिला है.

कमलनाथ मंच पर मौजूद कांग्रेस की पूर्व विधायक कमला चौरे की तरफ इशारा करते हुए कहते हैं कि आप गवाह हैं. जब इंदिरा गांधी को गिरफ्तार किया गया तो इसके विरोध में मेरे साथी रेवनाथ चौरे ने छिंदवाड़ा जिले में सबसे पहले अपनी गिरफ्तारी दी थी. जिसे भुलाया नहीं जा सकता है.

कमलनाथ के बयान पर भाजपा के प्रदेश मीडिया प्रभारी लोकेन्द्र पराशर ने चुटकी ली है. कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने राजनीतिक सन्यांस की घोषणा कर दी है. अब उन्हें भोपाल में अपना सरकारी मकान वापस कर देना चाहिए. वह अपना कारोबार बंद करें और अपने घर में आराम करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here