पूर्व भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान महेंन्द्र सिंह धोनी आज यानी 7 जुलाई को 43के हो गए हैं.दानी ने अपना जन्मदिन बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान के साथ मनाया. इस दौरान वहां मौजूद उनकी पत्नी साक्षी धोनी ने माही के पैर भी छुए. इस शानदार पल का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा हैं .

और फैंस इसे खूब पसंद कर रहें हैं. आपको बता दें, धोनी शनिवार को अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट की संगीत सेरेमनी  पहुंचे थे. इस समारोह के बाद ही माही ने होटल में अपना जन्मदिन मनाया.

भारत के महान क्रिकेटर और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आज अपना 43वां जन्मदिन मना रहे हैं। तीनों आईसीसी व्हाइट-बॉल ट्रॉफी जीतने वाले दुनिया के एकमात्र कप्तान धोनी ने अपना 43वां जन्मदिन खास अंदाज में मनाया। इसका वीडियो उनकी पत्नी साक्षी ने सोशल मीडिया पर साझा किया।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sakshi Singh (@sakshisingh_r)

 यह वीडियो सोशल मीडिया पर तब चर्चा में आया जब साक्षी को धोनी के सामने हाथ जोड़ने से पहले उनके पैर छूते हुए देखा गया। वीडियो में धोनी ने यह भी पूछा कि क्या केक एगलेस था। ऐसा लगा कि धोनी शायद अपने शाकाहारी दोस्तों को लेकर चिंतित थे।

धोनी का क्रिकेट के इतिहास में सबसे प्रेरणादायक यात्राओं में से एक रहा है। रेलवे स्टेशन पर टिकट कलेक्टर के रूप में काम करने के बाद वह भारत के सबसे बड़े ट्रॉफी कलेक्टर भी बन गए और टीम की कप्तानी करते हुए आईसीसी टी20 विश्व कप 2007, आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2011 और आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी 2013 में टीम की कप्तानी की.

उन्होंने 2004 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया और एक पावर हिटर के रूप में खुद का नाम बनाया। हालांकि, समय के साथ एक फिनिशर के रूप में खुद को ढाला। वह समय पर आक्रामक बल्लेबाजी करने के साथ-साथ परिस्थिति के मुताबिक खुद को ढालने में माहिर थे।

चेन्नई सुपर किंग्स में ‘थाला’ के रूप में जाने जाने वाले धोनी ने भारत के लिए 98 टी20 खेले, जिसमें 126.13 के स्ट्राइक रेट से 37.60 की औसत से 1,617 रन बनाए। उनके नाम इस प्रारूप में दो अर्धशतक हैं। उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर 56 रन है। टेस्ट की बात करें तो धोनी ने 90 मैच खेले,

जिसमें 38.09 की औसत से 4,876 रन बनाए। उन्होंने 224 के सर्वश्रेष्ठ स्कोर के साथ छह शतक और 33 अर्धशतक बनाए। वह टेस्ट में भारत के लिए 14वें सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। एक कप्तान के रूप में उन्होंने 60 टेस्ट मैचों में भारत का नेतृत्व किया, जिसमें से उन्होंने 27 मैच जीते, 18 हारे और 15 ड्रॉ रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here