उत्तर प्रदेश सरकार ने नयी आबकारी नीति को मंजूरी दे दी है. घर में शराब रखने वाले अगर सतर्क नहीं हुए तो पकड़े जाने पर सख्त कार्रवाई हो सकती है. हालांकि इस नयी आबकारी नीति में एक राहत भी दी गयी है. अगर घर में अधिक मात्रा में शराब रखना चाहते हैं तो इसके लिए लाइसेंस लेना जरुरी होगा.

उत्तर प्रदेश में चंडीगढ़ की तर्ज पर यह योजना लागू की गयी है. अब अगर किसी को अपने घर में इस्तेमाल के लिए तय सीमा से ज्यादा शराब रखनी है तो उसके लिए आबकारी विभाग से आवेदन कर लाइसेंस लेना होगा.

इस लाइसेंस का नाम व्यक्तिक होम लाइसेंस दिया गया है. राज्य में कोई भी व्यक्ति हर तरह की तीन-तीन लीटर शराब और बीयर घर में रख सकता है. जिसे बढ़ाकर 16 लीटर कर दिया गया है.

वहीं लाइसेंस की फीस 12 हजार रूपये और जमानत राशि के लिए 51 हजार रूपये देने होंगे. कानून का दुरुपयोग न हो इसके लिए उन्ही लोगों को अनुमति दी जाएगी जो आयकर देने के पात्र हैं. साल 2021-22 के लिए विदेशी शराब, बीयर और शराब के अग्रिम भंडारण की अनुमति 15 फरवरी से दी जाएगी. वैयक्तिक होम लाइसेंस के लिए आबकारी विभाग में आवेदन करना होगा. जिसके लिए फीस भी अदा करनी होगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here