सोमवार को आसमान में बादल नजर आए लेकिन इससे एक दिन पहले रविवार को झमाझम हुई बारिश से मौसम ने करवट ली है. अब ठंड लगातार बढ़ रही है. मानसून सीजन के बाद पश्चिम विक्षोभ के चलते बारिश हुई है. बारिश के तुरंत बाद पारा लुढ़क गया.

दिवाली के दूसरे दिन हुई बारिश से प्रदूषण भी कुछ हद तक कम हुआ. हालांकि मंगलवार को सुबह कोहरा छाया रहा. मौसम विभाग के मुताबिक 19 नवंबर तक कोहरा पड़ने की संभावना है.

करीब ढाई महीने बाद हुई बारिश से प्रकृति साफ़ सुथरी नजर आई. पत्तियों पर जमी कालिमा धुल गयी. इससे पहले अगस्त महीने में ठीक-ठाक बारिश हुई थी. अक्टूबर महीने बारिश के लिहार से शून्य रहा. सितम्बर में भी बारिश कुछ खास नहीं हुई.

वहीं प्रदूषण से मिली राहत स्थाई नहीं है. आने वाले दिनों में प्रदूषण और बढ़ेगा. रात का तापमान गिरने से कोहरा और धुंध बनेगा. जिससे प्रदूषण बढ़ेगा. मौसम जानकारों के मुताबिक प्रदूषण दो कारणों से कम होता है पहला बारिश दूसरी तेज हवा. तेज हवा चलने की फिलहाल उम्मीद नहीं है और बारिश की गतिविधि अब थम जाएगी.

पश्चिम विक्षोभ के चलते पर्वतीय इलाकों में बारिश और बर्फबारी हुई है. इसके प्रभाव से तापमान में तेजी से गिरावट आएगी. आगामी दिनों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के नीचे जाएगा. अधिकतम तापमान 24 डिग्री तक पहुँचने के आसार हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here