कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन लगातार जारी है. किसानों और सरकार के बीच दो बार बातचीत होने के बाद अभी तक कोई नतीजा नहीं निकल पाया है. तमाम विपक्षी पार्टियां किसानों के समर्थन में हैं और सरकार से इस कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं.

उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल इलाके में सक्रिय राजनीतिक दल युवा चेतना ने आज बलिया के मालेदपुर मोड़ पर बैलगाड़ी पर सवार होकर किसानों के समर्थन में प्रदर्शन किया.

युवा चेतना के राष्ट्रीय संयोजक रोहित कुमार सिंह ने कहा कि मोदी सरकार किसानों के प्रति संवेदनहीन हो गई है. ठंड के महीने में किसानों को पीटा जा रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रॉकस्टार की तरह धुन पर थिरक रहे हैं. उन्होंने कहा कि भारत सरकार को अविलम्ब कृषि बिल को वापस लेना होगा नहीं तो आंदोलन और तेज होगा. किसान आंदोलन को जन-जन का समर्थन प्राप्त है.

रोहित सिंह ने कहा कि देश का अन्नदाता परेशान है और प्रधानमंत्री मस्त हैं. भाजपा सरकार किसान विरोधी है, यह बात अब जगजाहिर हो चुकी है. उन्होंने कहा कि जब कलाकारों और लेखकों के द्वारा पुरस्कार लौटाया जा रहा था तब भाजपा उनलोगों को देशविरोधी कह रही थी अब पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और देश के वरिष्ठ नेता प्रकाश सिंह बादल ने पद्मविभूषण पुरस्कार लौटा दिया किसानों के पक्ष में इसपर भाजपा क्या कहेगी.

उन्होंने कहा कि किसान विजयी होंगे और सरकार हारेगी. प्रदर्शन में अजय राय मुन्ना, मोहन सिंह, बैजू राय, अजय ओझा, निखिल पांडेय, राहुल यादव, सन्नी तिवारी, गुड्डु यादव, चमचम तिवारी, रवि बिंद, राहुल पांडेय, मोनु राय, आदित्य चौबे आदि उपस्थित रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here