राममंदिर-बाबरी मस्टिद विवाद मामले में एक महत्वपूर्ण पक्षकार निर्मोही अखाड़ा ने विहिप पर राममंदिर के नाम पर घोटाला करने का आरोप लगाया है. निर्मोही अखाड़े के महंत सीताराम दास ने आरोप लगाया है कि राममंदिर के निर्माण के पर विहिप ने 1400 करोड रुपये वसूले हैं. निर्मोही अखाडे का इस मामले में कहना है कि राममंदिर निर्माण के नाम पर उन्होंने कोई पैसा नहीं लिया.

निर्मोही अखाड़ा ने लगाया ये गंभीर आरोप

जबकि विहिप ने राममंदिर के निर्माण के नाम पर लोगों से पैसे लिए और अपने भवन का निर्माण करवाया. सीताराम ने कहा कि राममंदिर मामले में हम लोग मुख्य पक्ष हैं. लेकिन इस मुद्दे पर नेताओं ने कब्जा कर लिया.

IMAGE CREDIT-SOCIAL MEDIA

सीताराम दास ने कहा कि बीजेपी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि मंदिर निर्माण के नाम पर जुटाए गए पैसों के इस्तेमाल से उन्होंने सरकार भी बना ली है. उन्होंने कहा कि नेताओं ने राममंदिर के नाम पर वोट और नोट दोनों कमाएं. लेकिन राममंदिर के नाम पर एक रुपया भी खर्च नहीं किया. सीताराम ने आरोप लगाया कि विहिप ने घर-घर जाकर लोगों से एक-एक ईंट और पैसा मांगा और वे लोग इन पैसों को खा गएं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here