समाजवादी पार्टी के लिए सोमवार और मंगलवार का दिन बेहद गमनाक साबित हुआ. दो दिनों में पार्टी के दो वरिष्ठ नेताओं के निधन ने सभी सपाइयों को झकझोर कर रख दिया. कल वरिष्ठ सपा नेता जमुना प्रसाद बोस के निधन के बाद देर रात सपा एमएलसी एसआरएस यादव का निधन हो गया.

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ के पार्टी मुख्यालय में दोनों वरिष्ठ नेताओं के चित्र पर पुष्प अर्पित कर नम आखों से उन्हें श्रद्धांजलि दी और दो मिनट का मौन रखा गया. उनमे सम्मान में पार्टी का झंडा आधा झुका दिया गया.

एसआरएस यादव को लेकर अखिलेश ने कहा कि आज हमने एक समर्पित समाजवादी खो दिया. एसआरएस यादव मुलायम सिंह और अखिलेश यादव दोनों के ही काफी करीबी माने जाते थे. पार्टी कार्यालय का संचालन भी उन्हीं के जिम्मे था.

image credit-social media

बांदा के जमुना प्रसाद बोस के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि वो समाजवादी मूल्यों के प्रति आजीवन समर्पित रहे. समाजवादी आंदोलन के इतिहास और भविष्य में उनकी कर्मठता, सादगी और ईमानदारी याद रखी जाएगी.

बता दें कि 95 वर्षीय बोस आजाद हिंद फौज में भी रहे थे, वो डॉक्टर राम मनेहर लोहिया के परम अनुयायी थे. पार्टी कार्यालय में आयोजित शोक सभा के दौरान प्रदेशभर के तमाम बड़े नेता मौजूद थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here