शादी विवाह किसी भी कपल के लिए जिंदगी में सबसे बड़ा इवेंट होता ह शादी के पहले इसकी तैयारियों में लोग जुटे होते हैं. इसके बाद लोगों का घूमना फिरना शुरु हो जाता है. पोस्ट वेडिंग एक्टिविटी यानी हनीमून में कपल की खुशी देखने लायक होती है. लेकिन अगर कोई कपल शादी के बाद तुरंत हनीमून की जगह कब्रिस्तान पर पहुंच जाए तो आश्यचर्य होगा.

सोशल मीडिया पर एक ऐसी ही तस्वीर वायरल हो रही है जो शादी के तुरंत बाद कब्रिस्तान पहुंच गया. कब्रिस्तान में दोनों ने मिलकर कोरोना से मरे लोगों का अंतिम संस्कार किया. जानकारी के मुताबिक, 34 साल के मुहम्मद रिद्जीवन ओसमान और उसकी बीवी 26 साल की नूर अफिफा हबीब ने 13 दिसंबर को शादी की थी.

लेकिन पति-त्नी ने शादी के बाद हनीमून पर जाने की जगह कोविड वारियर बनने का फैसला किया. उन्होंने शादी के बाद पहले हफ्ते तक कोरोना से मरे मरीजों का अंतिम संस्कार करने का फैसला किया.

 

हनीमून की जगह कब्रिस्तान में शादी के बाद पहला हफ्ता बतिना के इस फैसले की लोग काफी तारीफ कर रहे हैं. नया नवेला दूल्हा रिद्जीवन टीम कांगकुल की का मेंबर है जो कोविड 19 के मरीज और उसकी मौत के बाद मुफ्त में उनका क्रियाकर्म करते हैं.

रिद्जीवन ने बताया कि शादी के अगले ही दिन उसे टीम की ओर से काल आया कि कोरोना मरीज की मौत के बाद उसकी डेड बाडी को दफनाने जाना है उसने ये बात अपनी पत्नी को बताई जिसके बाद वो भी उसके सात चलने को तैयार हो गई. कपल तुरंत कब्रिस्तान गए, जहां उन्होंने कोरोना से मौत के बाद मरीजों का अंतिम संस्कार किया.

कपल ने इस दौरान सुल्तान अब्दुल हलीम अस्पताल में रखे शवों का अंतिम संस्कार किया. इस दौरान अन्य लोगों न भी उनकी मदद की जिस टीम का रिद्जीवन हिस्सा है. उसमें कई ऐसे लोग मेंबर है जो समाज सेवा के लिए इससे जुड़े है ये लोग वैसे तो दूसरे जगह पर काम करते हैं लेकिन समाज सेवा के लिए वो इस टीम की मदद करते हैं.

वहीं कपल ने बताया कि अभी उनका इस टीम के लिए काम करने का सिलसिला थमने वाला नहीं है. शादी के बाद से अभी तक कपल ने 15 लाशों का अंतिम संस्कार किया, लोग इस कपल की काफी तारीफ कर रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here