image credit-getty

दुनिया में अच्छे लोगों की आज के इस दौर में भी कमी नहीं है. एक ऐसा ही नाम है शकील मोहम्मद कुरैशी. दिल्ली की कड़कड़ाती ठंड में प्रर्दशन में बैठे किसानों को शकील मुफ्त में गर्म कपड़े बांट रहे हैं. प्रत्येक दिन सुबह 8 बजे दिल्ली-हरियाणा बार्डर पर ये शख्स रेहड़ी लगाता है ताकि किसानों के पास तक ऊनी कपड़ा पहुंचा सके.

केंद्र के कृषि कानून के विरोध में देशभर के किसान आंदोलित है और वो इस कानून को वापस लेने की मांग कर रहे हैं. ऐसे में यूपी के बागपत में रहने वाले इस शख्स के पिता जो कि पेशे से किसान है ये शख्स अब तक किसनों को 300 स्वेटर और जैकेट बांट चुका है.

शकील ने कहा कि मेरे पिता भी एक किसान है, तो मुझे इस बारे में पता है कि उन लोगों की जिंदगी कितनी मुश्किल होती है कुरैशी अपने परिवार के साथ दिल्ली के नरेला में रहते हैं. कहा कि –

ये किसान सरकार से कुछ ज्यादा नहीं मांग रहे हैं इन्हें बस अपनी खेती का सही दाम चाहिए.

कुरैशी से जब ये पूछा गया कि इस नेक काम के लिए उन्होंने कितने पैसे खर्च कर दिए तो उन्होंने इस बारे में बताने से इंकार दिया, उनका मानना था कि वो किसानों के लिए कर रहे हैं.

इस समय हजारों किसान दिल्ली-हरियाणा बार्डर पर नए कृषि कानून के खिलाफ प्रर्दशन कर रहे हैं उनकी मदद के लिए कई लोग आगे आ चुके हैं. जैसे कुछ खिलाड़ियों ने इनके कपड़े धुलने के लिए अपने पैसों से वाशिंग मशीन लगाई तो कहीं पर रोटियां सेकने के लिए रोटी मशीन लगाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here