सीसीएल रजरप्पा आवासीय कालोनी में रहने वाली दिव्या पांडे ने पहले ही प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में सफलता अर्जित करते हुए 323 वां रैंक प्राप्त कर रजरप्पा कोयलांचल का नाम रोशन किया है. मूल रुप से उत्तरप्रदेश के गोरखपुर की रहने वाली सेवानिवृत्त सीसीएल कर्मी जेपी पांडेय की दूसरी पुत्री दिव्या की प्रारंभिक पढ़ाई डीएवी रजरप्पा से हुई है इसके बाद रांची वीमेंस कालेज से एमबीए पास करने के बाद यूपीएससी की तैयारी में जुट गई.

दिव्या ने बताया कि महज 6 महीने की तैयारी से ही उन्होंने सफलता अर्जित की है. तीन भाई-बहनों में बड़ी बहन भी यूपीएससी की तैयारी कर रही है. जबकि छोटा भाई इंजीनियरिंग की तैयारी में लगा हुआ है. दिव्या की माता मनोरमा पांडेय हाउस वाइफ है.

दिव्या ने इस सफलता का श्रेय माता-पिता तथा परिवार के लोगों को देती हैं. उनका इस बारे में कहना है कि बिना कोई मानसिक तनाव और बिना किसी कोचिंग के मैंने पहली ही बार में यूपीएससी एग्जाम को क्रैक करने में सफलता अर्जित की है. आगे मुझे जो भी जिम्मेदारी दी जाएगी समर्पित भाव से कार्य करुंगी. दिव्या की सफलता पर उसे बधाई देनें वालों का तांता लगा हुआ है.

दैनिक जागरण से बातचीत में दिव्या पांडे ने बताया कि मैंने अपने माता-पिता के साथ अपना सपना भी पूरा किया, मुझे आज खुशी हो रही है कि मैंने अपने सपने को पूरा कर लिया. आईएएस बनने का ख्वाब मैंने 10 वीं क्लास से ही मन में पाल रखा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here